Arya Samaj : Andheri
 

दुनिया मे भले या सत्पुरुषो का मेल औषध का कार्य करता है शारीरिक विकारो का इलाज वैध या डाँक्टरों द्वारा हो सकता है किन्तु आध्यात्मिक भोजन सत्संगों से ही प्राप्त होता है इतिहास साक्षी है कि कभी सत्पुरुषो के मेल से जीवन की राह ही बदल जाती है सत्संग हमारे मन पर पडे हुये जन्म जन्मान्तरों के विषय वासना रुपी मैल को हटाकर शुद्ध जान एवं परमेश्‍वर की भक्ति के साथ जोडता है सत्संग और स्वाध्याय श्रेष्ठ विचार धारा के लिये आक्सीजन का काम करते है इसलिये सत्संग सुनने का अवसर जब मिले तब परिवार सहित पति-पत्नी, बच्चे, माता-पिता, भाई-बहन, रिश्तेदार, सबको लेकर सत्संग का आनंन्द उठाये इससे बढकर पुण्य कार्य और कोई नहीं हो सकता ।

 

अगर आप चाह्ते हो कि घर में पति-पत्नी में प्यार बना रहे बच्चे बडों की तथा माता पिता की इज्जत करें घर में खुशहाली रहे सब सुख चैन से जियें तो बच्चों सहित पूरे परिवार को सत्संग में जरुर ले जाना चाहिये सत्संग में जाने से बुरे से बुरे लोग भी संत बन जाते है यदि श्रेष्ढ लोग सुनेगे तो क्या देवता नहीं बन जायेंगे अपने परिवार को स्वर्ग जैसा सुन्दर बनाने के लिये सत्संग से बढकर और कोई उपाय नही है अतः मानव मात्र के क्ल्याण के लिये दुनिया भर मे आर्य समाजों में सत्संग की व्यवस्था है आर्य समाज अन्धेरी में प्रति रविवार प्रातः 9.00 बजे से 11.00 बजे तक होता हें जिस्में साप्ताहिक सत्संग, यज्ञ, भजन, प्रवचन की व्यवस्था है हमारे साप्ताहिक सत्संग में वैदिक दार्शनिक विद्धानों का आगमन होता है जिनके प्रवचनो को सुनकर आप अपने जीवन श्रेष्ढ बना सकते हौ अतः आप परिवार सहित अवश्य पधारें आर्य समाज अन्धेरी आपका स्वागत धन्यवाद करती है।

 

 
For more info: Acharya Hariomji 9820891985
 
 
Designed by Web Avataar