Arya Samaj : Andheri

मानव का शरीर साधन है परमेशवर को प्राप्त करने का "आत्मानं रथिनं विदी शरीर रथ भेव च" आत्मा रथी है। शरीर रथ है। आत्मा शरीर पर सवार होकर ही परमात्मा को प्राप्त करता है। स्वस्थ शरीर से ही हम परमात्मा के परमानद को प्राप्त कर सकते है। सांसरिक सुखो को भी प्राप्त करने के लिये भी स्वस्थ शरीर का होना आवश्यक है। योगाभ्यास स्वं योगासन के द्वारा ही हम शरीर को स्वस्थ एवं निरोग रख सकते है। योग के द्वारा हमें रोग से मुक्ति मिलती है योग के द्वारा अल्लस्य प्रमाद दूर होता है। शरीर स्फ़ूर्तिमय बना रह्ता है। मानसिक समस्याओ को दूर कर मन को प्रसन्नतासे भरत है। योग के द्वारा हम भयंकर से भयंकर रोगो को दूर कर सकते है। डायबटिज ब्लड्प्रेशर अस्थ्मा गैस स्वं पेट के विकार, मोटापा थाइराइड गठियावाय सोरामसीस ह्रदय रोग आदि प्रमाणित रुप से योग एवं आयुर्वेद के द्वारा दूर कर सकते है। योग जीवन के लिये कवच का काम करता है। आर्यसमाज अन्धेरी में प्रात: ६.१५ मंग बुध एवं शुक्र्वार सांय - ५.०० से ६.०० सोम गुरु एवं शनिवार प्रतिदिन १२.०० से १.०० अनुभवी योगाचार्या द्वारा योग सिखाया जाता है। आप साभी योग क्लास मे आकर अप्मे जीवन को स्वस्थ एवं निरोग बनासकते है।

 

For more info: Acharya Hariomji 9820891985
 
 
Designed by Web Avataar